मध्यप्रदेशहाेम

MP Weather: दो वेदर सिस्टम सक्रिय, कटनी, इंदौर, उज्जैन, शहडोल में तेज बौछारें पड़ने की संभावना

MP Weather: दो वेदर सिस्टम सक्रिय कटनी, इंदौर, उज्जैन, शहडोल में तेज बौछारें पड़ने की संभावना

Advertisements

MP Weather Update:  बंगाल की खाड़ी से उठा तूफान आगे बढ़ा तूफान गुल-आब वर्तमान में कमजोर पड़कर गहरा कम दबाव का क्षेत्र बन गया है। साथ ही मराठवाड़ा और उससे लगे गुजरात पर सक्रिय है। उधर बंगाल की खाड़ी में भी एक गहरा कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक इन दो सिस्टम के कारण बुधवार-गुरुवार को कटनी, इंदौर, उज्जैन, शहडोल, रीवा संभागों के जिलों में तेज बौछारें पड़ने की संभावना है। हवा का रूख दक्षिणी रहने से राजधानी में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने के आसार है।

यह भी पढ़ें-  SI-ASI EXAM 2019 की Final Answer Keys अपलोड

मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान बुधवार सुबह साढ़े आठ बजे तक खरगोन में 35.2, खंडवा में 27, सिवनी में 11.4, मलाजखंड में 6.6, नरसिंहपुर में पांच, भोपाल (एयरपोर्ट क्षेत्र) में 3.8, छिंदवाड़ा में 2.8, सागर में 2.4, बैतूल में 1.8, होशंगाबाद में 1.4, पचमढ़ी में एक, भोपाल (शहर) में 0.6, धार में 0.6, उज्जैन में 0.2 मिलीमीटर बारिश हुई

यह भी पढ़ें-  Modi Cabinet Meeting: मोदी सरकार ने 3 फीसदी बढ़ाया महंगाई भत्ता, 1 जुलाई 2021 से लागू होंगी नई दरें

वर्तमान में मराठवाड़ा और उससे लगे गुजरात पर बना गहरा कम दबाव का क्षेत्र अवदाब के क्षेत्र में बदल सकता है। इस सिस्टम के गुरूवार को अरब सागर में पहुंचकर पुन: चक्रवाती तूफान में बदलने की संभावना है। हालांकि तूफान पाकिस्तान और उससे लगे अरब सागर की तरफ बढ़ेगा, इस वजह से इसका विशेष असर मध्यप्रदेश में होने के आसार कम हैं। हालांकि बुधवार-गुरूवार को इसके प्रभाव से इंदौर, उज्जैन संभागों के जिलों में तेज बौछारें पड़ेंगी। उधर बंगाल की खाड़ी में पश्चिम बंगाल पर बने सिस्टम के प्रभाव से बुधवार-गुरूवार को रीवा, शहडोल संभागों के जिलों में कहीं-कहीं तेज बौछारें पड़ने की संभावना है। प्रदेश के शेष हिस्से में अब बारिश की गतिविधियां कम होने लगेंगी।

यह भी पढ़ें-  Sarkari Naukri 10वीं पास के लिए निकलीं बंपर नौकरियां, मिलेगा 81 हजार रुपये तक का वेतन
Show More
Back to top button