मध्यप्रदेशहाेम

MP के बिजली उपभोक्ताओं को लग सकता है बिजली बिल का झटका, प्रस्तावित की गईं नई दरें, 5 अक्टूबर को होगी सुनवाई

उपभोक्ताओं को लग सकता है बिजली बिल का झटका, प्रस्तावित की गईं नई दरें, 5 अक्टूबर को होगी सुनवाई

Advertisements

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के बिजली उपभोक्ताओं को एक बार फिर बिजली का झटका लगने वाला है. इस बार विद्युत कंपनियों द्वारा बिजली कनेक्शन समेत अन्य चार्ज में बेतहाशा वृद्धि करने का प्रस्ताव मध्य प्रदेश विद्युत नियामक को भेजा गया है. हालांकि यह प्रस्ताव पूर्व में भी भेजा गया था, लेकिन तब आपत्तिकर्ताओं के विरोध के बाद प्रस्ताव वापस ले लिया गया था. लेकिन एक बार फिर उन्हीं बढ़ी हुई दरों के साथ फिर प्रस्ताव भेजा गया.

बिजली कंपनियों ने सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं द्वारा नया कनेक्शन लेने और विभिन्न प्रकार की सेवा शुल्कों में 68 फीसदी से लेकर 70 फीसदी की वृद्धि फिर से प्रस्तावित की है, जिस पर उपभोक्ताओं से 30 सितंबर 2021 तक आपत्ति आमंत्रित की गई है. मध्य प्रदेश विद्युत नियामक आयोग 5 अक्टूबर को सुनवाई करेगी. आपको बता दें कि इसके पहले भी इन्ही दरों के साथ प्रस्ताव भेजा गया था, जिस पर करीब 20 उपभोक्ताओं और उद्योग संगठनों के प्रतिनिधियों ने 6 जुलाई 2021 को आयोजित की गई जनसुनवाई में विरोध किया था. विरोध को देखते हुए शुल्क वृद्धि के प्रस्ताव को टाल दिया गया. लेकिन अब उन्हीं बढ़ी दरों के साथ फिर से प्रस्ताव भेजा गया है.

यह भी पढ़ें-  Breaking सतना जिले में तालाब में डूबे पांच बच्‍चे, तीन की मौत, दो को बचाया

5 अक्टूबर को होगी सुनवाई

अब इस प्रस्ताव पर 5 अक्टूबर को सुनवाई होनी है. बिजली विभाग के जानकार और याचिकाकर्ता राजेंद्र अग्रवाल का कहना है कि वर्तमान परिस्थितियों में वाणिज्य और औद्योगिक क्षेत्र मंदी के दौर से गुजर रहा है. ऐसे हालातों में अगर बिजली कंपनियां विभिन्न सेवाओं की शुल्क में वृद्धि करेगी उसका असर आम उपभोक्ता पर जरूर पड़ेगा. लिहाजा इस वृद्धि को तत्काल वापस लेना चाहिए. आइए अब आपको बताते हैं कि किस तरह से आम उपभोक्ता की जेब पर यह प्रस्ताव असर डालेगा.

बिजली कनेक्शन का प्रस्तावित शुल्क

बिजली कनेक्शन की प्रस्तावित दरों के मुताबिक सिंगल फेस 3 किलोवाट के कनेक्शन के लिए पहले 600 रुपए लगता था जो अब 1020 रुपए प्रस्तावित है. थ्री फेस 5 किलोवाटके लिए पहले 1800 रुपए लगते थे जो अब 3000 प्रस्तावित है. यह करीब 67 फीसदी की बढ़ोतरी है. थ्री फेज 10 किलोवाट कनेक्शन के लिए 4800 लगते थे जिसके लिए अब 8000 रुपए का प्रस्ताव है.

वहीं अगर कॉमर्शियल कनेक्शन की बात की जाए तो सिंगल फेस 3 किलोवाट के लिए 900 रुपए लगते थे जो 1500 रुपए प्रस्तावित है. तीन फेस 5 किलोवाट के कनेक्शन के लिए 2700 रुपए था जो अब 4530 रुपए प्रस्तावित है. तीन फेस के 10 किलोवाट कनेक्शन का पहले 7200 रुपये लगता था जो अब 12,080 प्रस्तावित है. तीन फेस 25 किलोवाट कनेक्शन के लिए पहले 40,950 लगते थे जो अब 68,970 रुपए प्रस्तावित हैं. तीन फेस 50 किलोवाट के कनेक्शन के लिए 134,700 रुपए लगते थे जो अब 226,500 प्रस्तावित है.

Show More
Back to top button