जीतू पटवारी के बयान पर बवाल, CM शिवराज सिंह ने मोर्चा खोला, माफी मांगनी पड़ी

भोपाल। पेट्रोलियम पदार्थों की मूल्य वृद्धि के खिलाफ मध्य प्रदेश में हुए कांग्रेस के लगभग ठंडे से विरोध प्रदर्शन के बीच सबसे ज्यादा वायरल होने वाला बयान पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने दिया। अब पटवारी के उसी बयान पर बवाल शुरू हो गया है।

LATEST UPDATE: विवादित ट्वीट हटाने पड़े, माफी मांगनी पड़ी

अंतत: जीतू पटवारी को विवादित ट्वीट हटाने पड़े। पटवारी ने खेद प्रकट करते हुए लिखा कि मोदी जी ने नोटबंदी, जीएसटी, महंगाई, बेरोज़गारी और मंदी से देश की अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ दी..! जनता यह सब केवल “विकास” की उम्मीद में सहन करती रही। उपरोक्त आशय के साथ किये गये मेरे ट्वीट से यदि किसी की भावनायें आहत हुई हैं तो मैं खेद व्यक्त करता हूँ।

JITU PATWARI का बयान जिस पर बवाल शुरू हुआ

पुत्र के चक्कर में 5 पुत्री पैदा हो गई! 1-नोटबंदी 2-जीएसटी 3-महंगाई 4-बेरोजगारी 5-मंदी ! परंतु अभी तक “विकास” पैदा नहीं हुआ! (इस बयान के माध्यम से जीतू पटवारी ने भाजपा सरकार पर तंज कसा था। क्योंकि पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ऐसा कोई बयान दे नहीं पाए जिसे लोग लाइक/शेयर करते और प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ विरोध प्रदर्शन से अनुपस्थित थे, अतः जीतू पटवारी का बयान मीडिया की सुर्खियां बन गया।)

CM SHIVRAJ SINGH ने क्या कहा

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने न्यूज़ एजेंसी ANI को बुलाकर बयान दिया कि “कब तक कांग्रेस बेटियों को अपमानित करती रहेगी। ये नेता वही है मैडम सोनिया जो आपके बेटे को मोटरसाईकिल पर घुमाता है। ये वही है जो कहता है कि पार्टी तेल लाने जाए तो जाए।” “अब आपकी पार्टी तेल लेने जाए हमें कोई आपत्ति नहीं है लेकिन बेटियों को अपमानित करने का हक किसने दिया उसे। इस कृत्य के लिए या तो उस नेता को पार्टी से निकालें या फिर सोनिया गांधी जी देश से माफी मांगें।”

JITU PATWARI ने शिवराज सिंह के बयान पर प्रतिक्रिया दी

जहां तक बात बेटियों की है तो वो देवीतुल्य हैं। विकास की अपेक्षा के साथ मैंने एक ट्वीट किया है जिसे बीजेपी अपनी कमज़ोरियों को छिपाने के लिये उपयोग कर रही है। मैं अब भी कह रहा हूँ कि “विकास” का पूरे देश को इंतजार है। (जब इससे भी काम नहीं बना तो अंतत: ट्वीट हटाकर माफी मांगनी पड़ी। )