इंडियन हीरो यशस्वी जायसवाल कभी बेचे थे गोलगप्पे, वर्ल्ड कप में छाए यशस्वी


India vs Pakistan U19 World Cup Semifinals: भारत ने शानदार प्रदर्शन करते हुए आईसीसी अंडर 19 क्रिकेट वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में पाकिस्तान को 10 विकेट से हराया। इसी के साथ भारत ने लगातार तीसरी बार फाइनल में प्रवेश किया है। गत विजेता भारत की इस जीत में सलामी बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) का जबर्दस्त प्रदर्शन रहा जिन्होंने शानदार नाबाद शतक लगाया।
यशस्वी जायसवाल ने 113 गेंदों में 8 चौके और 4 छक्कों की मदद से नाबाद 105 रन बनाए। यशस्वी ने छक्का लगाकर अपना शतक पूरा किया और टीम को जानदार जीत भी दिलाई। ये इस वर्ल्ड कप में यशस्वी का पहला शतक है। 
यशस्वी इस शतकीय पारी के साथ अब इस टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। वे इस वर्ल्ड कप में 300 रन पूरे करने वाले पहले बल्लेबाज हैं।

संघर्षपूर्ण रहा जीवन
मुंबई के इस युवा बल्लेबाज का जीवन काफी संघर्षपूर्ण रहा है। पैसों की तंगी के चलते यशस्वी को एक समय गोलगप्पे भी बेचना पड़े थे। मूलरुप से उत्तरप्रदेश के भदोही के रहने वाले यशस्वी ने गरीब परिवार में जीवन यापन किया। 
उनके पिता की भदोही में एक छोटी दुकान हैं। यशस्वी को क्रिकेट से बहुत प्यार था, लिहाज वे कम उम्र में ही मुंबई आ गए थे। उनके पिता ने भी इस पर आपत्ति नहीं ली क्योंकि परिवार पालना वैसे भी उनके लिए काफी मुश्किल हो रहा था। मुंबई में वे अपने चाचा के घर एक महीने तक रहे, इसके बाद वे डेयरी में रहे। लेकिन वहां के काम के कारण उन्हें प्रैक्टिस का समय नहीं मिल पाता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *