गौर के बयान पर राघवजी बोले, मैं निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र

भोपाल। विदिशा के लटेरी में पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर के बयान को लेकर प्रदेश सरकार के पूर्व वित्त मंत्री राघवजी ने खुद को हर निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र बताया है. मीडिया से बात करते हुए राघव जी ने कहा यह बाबूलाल जी के व्यतिगत विचार हो सकते हैं. वह पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं, लगातार विधायक रहे हैं और अच्छा अनुभव भी है. अभी चुनाव को एक साल है और अभी से कुछ कहना उचित नहीं होगा. मैं पार्टी का सदस्य भी नहीं हूं और कोई भी निर्णय लेने के लिए पूर्णतया स्वतंत्र हूं.
वहीं राघव जी ने सरकार को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि शासन ने मेरे साथ जो किया है, उसे विदिशा जिले की जनता ने स्वीकार नहीं किया. इसी के चलते 2013 में जिले में भाजपा का ग्राफ गिरा और 5 में से 2 सीट कांग्रेस के पास चलीं गई. भाजपा को तीन सीटों पर जीत मिली, लेकिन बेहद मामूली अंतर से.
राघवजी ने कहा कि विदिशा से सीएम शिवराज सिंह चौहान खुद उम्मीदवार थे और वे भी बहुत कम अंतर से जीत पाए. राघव जी ने अपनी बेटी ज्योति शाह को उम्मीदवार बताते हुए कहा, मुझे टिकिट ना देना तो तर्क संगत है. लेकिन मेरी सजा मेरी बेटी को क्यों मिल रही है. वह भी जनपद अध्यश और नगर पालिका अध्यक्ष रह चुकी है. पार्टी और संगठन को उससे मुझसे अलग रखकर देखते हुए उम्मीदवार बनाना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *