कैबिनेट फेरबदल से पहले एनडीए में खटपट, JDU को नहीं मिला न्यौता

नई दिल्ली। लगभग एक महीने पहले ही लालू यादव की दोस्ती को ठुकराकर बीजेपी के साथ बिहार में सरकार बनाने वाले जेडीयू अध्यक्ष और बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा है कि उन्हें कैबिनेट में फेरबदल की जानकारी नहीं है। और उन्हें मोदी कैबिनेट में विस्तार की जानकारी मीडिया से ही मिल रही है। जब पटना में पत्रकारों ने उनसे पूछा कि क्या आपकी पार्टी केन्द्र में सत्ता में शामिल हो रही है, तो नीतीश ने कहा कि उन्हें इस बात की कोई जानकारी नहीं है। नीतीश कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने कैबिनेट का पुनर्गठन कर रहे हैं इस बात की जानकारी उन्हें मीडिया से ही मिली है। इससे पहले कयास लगाये जा रहे थे नीतीश कुमार की पार्टी के दो नेता केन्द्र में मंत्री बन सकते हैं। इनमें राज्यसभा में जेडीयू के नेता आरसीपी सिंह और संतोष कुमार का नाम शामिल था। बता दें कि नीतीश कुमार 19 अगस्त को एनडीए में शामिल हुए थे।इधर राजग की घटक शिवसेना के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने आज 2 सितंबर को कहा कि केंद्रीय कैबिनेट में कल होने वाले फेरबदल में पार्टी के सदस्यों को शामिल किए जाने को लेकर भाजपा से कोई बातचीत नहीं हुयी है। ठाकरे ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘मुझे मीडिया से ही कैबिनेट फेरबदल के बारे में जानकारी मिली। मैंने इस बारे में (केंद्रीय भाजपा नेतृत्व से) कोई  पूछताछ नहीं की है। मुझे किसी से कोई समाचार नहीं मिला है और न ही हम सत्ता के लिए भूखे हैं।’’ शिवसेना लंबे समय से भाजपा की सहयोगी रही है लेकिन अक्सर भाजपा के साथ उसका रूख टकराव का रहा है। अभी कैबिनेट में पार्टी की ओर से एकमात्र सदस्य अनंत गीते भारी उद्योग मंत्री हैं। उद्धव ठाकरने ने कहा कि आज हर कोई केंद्र में कैबिनेट फेरबदल में व्यस्त है। हालांकि, हमारा ध्यान सिर्फ मुंबई के नागरिकों का स्वास्थ्य सुनिश्चित करने की ओर है। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों भारी बारिश के कारण मुंबई में सामान्य जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ था।ठाकरे ने कहा कि पिछले 50 सालों से पार्टी की विचारधारा रही है कि 80 प्रतिशत सामाजिक कार्य और 20 प्रतिशत राजनीति।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *