खिरहनी ओव्हरब्रिज अब अटलजी के नाम पर

कटनी। जिला योजना समिति की बैठक प्रदेश के वित्त एवं वाणिज्यकर व जिले के प्रभारी मंत्री जयंत मलैया की अध्यक्षता में हुई। बैठक में खिरहनी ओव्हरब्रिज अब अटलजी के नाम परप्रभारी मंत्री ने स्पष्ट तौर पर अपडेट जानकारी के साथ ही मीटिंग में आने के निर्देश उन्होने दिये। उन्होंने कहा कि यदि विभाग प्रमुखों को लगता है कि अपने सबऑर्डिनेट को लाने की जरुरत है, तो उन्हें लेकर आएं लेकिन यह तय करें कि आइन्दा अधिकारी पूरी जानकारी के साथ ही अपना पक्ष मीटिंग में रखें। बैठक में अल्पवर्षा के कारण खेतों में फसलों की सिंचाई की तैयारियों की समीक्षा की गई, वहीं बांधों व स्टॉपडैमों में जल संचयन की स्थिति और आगामी माहों की तैयारियों पर भी प्रभारी मंत्री ने डब्ल्यूआरडी के अधिकारियों को निर्देश दिये। पीएचई विभाग और विद्युत विभाग की समीक्षा भी जिला योजना समिति की बैठक में हुई। बैठक में प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री संजय सत्येन्द्र पाठक भी मौजूद रहे। जियोस की बैठक में प्रभारी मंत्री सहित उपस्थित समिति सदस्यों ने जनपद पंचायत विजयराघगढ़ के ग्राम दुर्जनपुर का नाम परिवर्तित कर शिवधाम करने के प्रस्ताव पर सहमति दी, वहीं महापौर शशांक श्रीवास्तव द्वारा पूर्व विधायक अलका जैन के पत्र के आधार पर खिरहनी ओव्हरब्रिज का नाम पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी ओव्हरब्रिज करने का प्रस्ताव रखा, जिसे जियोस ने मंजूरी दी। विधायक संदीप जायसवाल ने गनियारी-गिलौंची मार्ग पर बने पुल का नाम पूर्व विधायक स्व. प्रभात पाण्डेय सेतु करने के प्रस्ताव को भी समिति द्वारा सहमति दी गई। विधायक संदीप जायसवाल के सुझाव पर पेयजल समस्या के निदान के लिये कार्ययोजना बनाने के उद्देश्य से विकासखण्ड स्तरीय बैठक आयोजित करने के निर्देश प्रभारी मंत्री श्री मलैया ने दिये। उन्होंने कलेक्टर को कहा कि बैठक में पीएचई के साथ ही जल संसाधनए कृषि और विद्युत विभाग के अधिकारियों को भी बुलायें। बैठक में जिलास्तरीय अधिकारी शामिल हों। साथ ही विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य, जनपद पंचायत सदस्य सहित संबंधित जनप्रतिनिधि शामिल हों और अपने विकासखण्ड की कार्ययोजना तैयार करें।

खिरहनी ओव्हरब्रिज अब अटलजी के नाम परपेयजल की समस्या के लिए बनाएं योजना ः 
संजय पाठक 

जिला योजना समिति की बैठक में गरमी के मौसम में गहराने वाले पेयजल संकट की समीक्षा भी हुई। इस दौरान राज्यमंत्री संजय पाठक ने पीएचई के अधिकारियों से जिले में सबसे अधिक प्रभावित होने वाले क्षेत्र के विषय में पूछा। जिस पर अधिकारियों द्वारा बाकल.रीठी क्षेत्र की जानकारी दी गई। इस पर उन्होंने पेयजल की समस्या के स्थाई समाधान के लिये केनाल आधारित योजना बनाने के निर्देश दिये। श्री पाठक ने कहा कि इसका प्रस्ताव तैयार करायें और प्रभारी मंत्री जी को भी भेजें।
इनकी रही उपस्थिति 
बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती ममता पटेल, बहोरीबंद विधायक सौरभ सिंह जिला पंचायत उपाध्यक्ष अशोक विश्वकर्मा, समिति सदस्य पीताम्बर टोपनानी, अजय गौंटिया, उदयचन्द दाहिया, श्रीमती निधि तिवारी, सुश्री प्रगति राय, सुश्री पूजा देवी सिंह, श्रीमती माया पटैल, श्रीमती संतरा बाई, धीरेन्द्र बहादुर सिंह, अनिल खरे, श्रीमती सर्जना कन्देले, पूर्व विधायक सुनील मिश्रा, कलेक्टर विशेष गढ़पाले और पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *