beautiful सेल्फी की लत ने बढ़ाई कॉस्मेटिक सर्जरी की डिमांड

भोपाल। लोगों में खासकर युवाओं में सेल्फी की लत बढ़ती ही जा रही हैं। सेल्फी एडिक्टेड लोग दिनभर स्मार्टफोन पर खुद की तस्वीर उतारते हैं और उनको सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर अपलोड करते हैं। सेल्फी दिखने में खूबसूरत हो इसके लिए मेकअप के साथ ही लोग स्टंट भी दिखाते हैं।
इतना ही नहीं कई यंगस्टर्स के साथ ही टीनएजर्स सेल्फी में सुंदर दिखने के लिए चेहरे की कॉस्मेटिक (प्लास्टिक) सर्जरी तक करा रहे हैं। नाक और चेहरे की सुंदरता बढ़ाने के लिए डॉक्टर से मिलने आ रहे हैं, लेकिन डॉक्टर ने उनको खूबसूरती का इलाज कराने के बजाय मानसिक इलाज कराने का परामर्श दिया। यह हालत सिर्फ मेट्रो सिटीज में ही नहीं बल्कि छोटे शहरों में भी है।
कराना चाहती थी आइब्रो की सर्जरी
16 साल की रिया शुक्ला (बदला हुआ नाम) अपनी आइब्रो की सजर्री कराना चाहती थी, क्योंकि उसकी सेल्फी आइब्रो के कारण खराब दिखाई देती है। पेरेंट्स के समझाने पर जब वह नहीं मानी, तब रिया की काउंसलिंग की गई।
होंठों का शेप बदलवाने की थी तैयारी
23 साल की प्रकृति नेगी (बदला हुआ नाम) अपने होंठों का शेप बदलवाना चाहती थी। इसके अलावा वे अपनी नाक को नुकीला करना चाहती थी। क्योंकि उसके दोस्तों का कहना है, उसकी नाक का शेप ठीक नहीं है। जिससे सेल्फी खराब होती है।
टीनएजर्स हैं सबसे ज्यादा प्रभावित
साइकोलॉजिस्ट डॉ. अनिता पुरी सिंह का कहना है कि पिछले साल भर में सेल्फी संबंधी समस्याओं की संख्या बढ़ी है। हर महीने लगभग ऐसे 5-10 मामले आ रहे हैं। इनकी उम्र 14-25 के बीच है। ये लुक को लेकर इतने संवेदनशील हैं कि बाल, नाक या रंग को ठीक करने के लिए किसी भी तरह का ऑपरेशन कराने को तैयार हैं। ऐसे मरीजों को ठीक करने के लिए मोबाइल से दूर रखने और एंटी-डिप्रेशन की दवाओं का इस्तेमाल करने की सलाह दी जा रही है। अगर परिवार या दोस्तों में कोई रोजाना तीन से ज्यादा सेल्फी पोस्ट कर रहा है तो यह मनोरोग की निशानी है। इसके पीछे का तर्क यह है कि तीन से ज्यादा सेल्फी अपलोड करने के लिए कोई व्यक्ति 10-12 फोटो खींचता है। इसमें सबसे अच्छे तीन फोटो अपलोड किए जाते हैं।
45 प्रतिशत तक बढ़ गई है डिमांड
प्लास्टिक सर्जन डॉ. डीके श्रीवास्तव कहते हैं, सेल्फी, एक ऐसा ट्रेंड बन चुकी है जिसके कारण युवा बेवजह ही सर्जरी करा रहे हैं। हमारे यहां इन दिनों इस तरह की सर्जरी में 45 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हुई है। पहले सर्जरी किसी गहरी चोट या आग से झुलस जाने पर की जाती थी। लेकिन इन दिनों युवा अपने आप को खूबसूरत दिखाने के लिए सर्जरी का सहारा ले रहे हैं।
इसके कई साइड इफेक्ट हो सकते हैं, जिनकी उन्हें कोई परवाह नहीं है। उनकी अनगिनत समस्याएं होती हैं, जिनके जवाब उनके पास नहीं होते। हाल के वर्षों में ब्रेस्ट रिडक्शन, हेयर ट्रांसप्लांटेशन, हेयर रेस्टोरेशन, ब्रो लिफ्ट्स, जैसी कुछ सर्जरी की डिमांड हो रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *