चीनी सामान की प्रतीकात्मक अर्थी निकाली, पुतला दहन

हाथरस : चीन सीमा पर तनातनी और कश्मीर में दखल की धमकी से आक्रोशित व्यापारियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं व समाजसेवियों ने सोमवार को घंटाघर पर चीनी आइटमों की प्रतीकात्मक शवयात्रा निकालते हुए पुतले को आग के हवाले किया। इस दौरान चीनी आइटमों के पूर्ण बहिष्कार का एलान किया गया। संकल्प लिया कि इनका प्रयोग किसी भी हाल में नहीं किया जाएगा।
एकत्रित हुए लोगों ने कहा कि चीन की ओर से भारतीय जवानों व भारतीय सीमा पर किए जाने वाले अनैतिक हमलों के विरोध में चीन से आयातित सामान का पूर्ण बहिष्कार किया जाए। वक्ताओं ने कहा कि चीन की तानाशाही चरम पर है। वह अपने पड़ोसियों का वजूद मिटाने पर तुला है और हम अब भी नहीं चेत रहे। चीन में बने सामान खरीदकर उसकी अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में लगे हैं। सभी ने चीन को सबक सिखाते हुए उसकी आर्थिक स्थिति को कमजोर करने में सहयोग देने की अपील की। साथ ही कहा कि हमें चीनी उत्पादों का विरोध करना चाहिए और स्वदेशी उत्पादों को अपनाते हुए अपने देश को स्वावलंबी बनाने में सहयोग करना चाहिए। इस दौरान जमकर नारेबाजी की गई। उपस्थित लोगों ने आश्वासन दिया कि वे चीनी आइटमों का प्रयोग नहीं करेंगे। साथ ही अन्य लोगों को भी इसके लिए जागरूक व प्रेरित करेंगे। इस मौके पर कपिल अग्रवाल, प्रशांत शर्मा, राजेंद्र चतुर्वेदी, आयोग दीपक, देवेंद्र शर्मा, कैलाश कूलवाल, गौरव अग्रवाल, सौरभ शर्मा, नरेंद्र ¨सह, दाऊदयाल वाष्र्णेय, अरुण कुमार शर्मा, योगेंद्र उपाध्याय आदि मौजूद थे। संचालन मनोज अग्रवाल ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *