वैंकेया बने देश के 15 वें उपराष्‍ट्रपति, 516 वोटों के साथ रहे विजयी

नई दिल्ली। वेंकैया नायडू देश के 15 वें उपराष्ट्रपति बन गए हैं। उन्होंने यूपीए के गोपालकृष्ण गांधी को शिकस्त दी। इस बार के उप राष्ट्रपति चुनाव में 98.21 फीसदी मतदान हुआ था। 760 वैध वोट में से वेंकैया नायडू को 516 वोट मिले जबकि गोपालकृष्ण गांधी को सिर्फ 244 वोट ही मिले। जीत के लिए 381 वोट की जरूरत थी।
गोपालकृष्ण गांधी ने दी बधाई
यूपीए उम्मीदवार गोपालकृष्ण गांधी ने उप राष्ट्रपति चुने जाने पर वेंकैया नायडू को बधाई दी है। उन्होंने कहा ‘वेंकैया नायडू को जीत की बधाई। उन्हें नए कार्यालय के लिए शुभकामनाएं।’
14 सांसदों ने नहीं डाला वोट
कुल 785 में से 771 सांसदों ने अपने मत का इस्तेमाल किया। जबकि 14 सांसदों ने वोट नहीं डाला। कांग्रेस और भाजपा के दो-दो, आईयूएमएल के दो, टीएमसी के चार, एनसीपी का एक, पीएमके का एक और एक निर्दलीय सांसद ने मतदान नहीं किया। भाजपा के विजय गोयल और सांवरलाल जाट जबकि कांग्रेस की मौसम नूर और रानी नाराह ने अपना वोट नहीं डाला।
पीएम मोदी और एनडीए के उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार वेंकैया नायडू ने संसद पहुंचकर वोट डाला।
— ANI (@ANI_news) August 5, 2017
वोट डालने पहुंचे वैंकेया ने कहा, ‘मैं किसी व्यक्ति या पार्टी के खिलाफ चुनाव नहीं लड़ रहा हूं, मैं भारत के उपराष्ट्रपति पद का चुनाव लड़ रहा हूं। मैं सभी संसद सदस्यों को जानता हूं और वे सभी भी मुझे जानते हैं। इसीलिए मैंने प्रचार भी नहीं किया। ज्यातादर पार्टियां मेरी उम्मीदवारी का समर्थन कर रही हैं।
भरोसा है कि वे सभी चुनाव में अपना वोट डालेंगी।’ वहीं विपक्ष के उम्मीदवार गोपालकृष्ण गांधी ने कहा, ‘एनडीए के उम्मीदवार एक अनुभवी व्यक्ति हैं। हमारे बीच कोई प्रतिस्पर्धा नहीं है। यह लड़ाई संवैधानिक सिद्धातों की है।’ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी संसद पहुंचकर अपने मताधिकार का प्रयोग किया।
— ANI (@ANI_news) August 5, 2017
आपको बता दें राजग की ओर से एम. वेंकैया नायडू और विपक्ष की ओर से गोपालकृष्ण गांधी इस पद के लिए उम्मीदवार हैं। संख्या बल के आधार पर वेंकैया की जीत तय मानी जा रही है।
लेकिन फिर भी चुनाव परिणाम की औपचारिक घोषणा शाम सात बजे की जाएगी। बिहार में भाजपा के साथ सरकार बनाने के बावजूद जदयू ने गोपालकृष्ण गांधी के समर्थन में मतदान करने का एलान किया था। वहीं, राष्ट्रपति चुनाव में रामनाथ कोविंद का समर्थन करने वाले बीजद ने भी विपक्षी उम्मीदवार के पक्ष में मतदान की घोषणा की थी।
बता दें कि 545 सदस्यीय लोकसभा में राजग के 338 सदस्य हैं। सदन में दो सीटें रिक्त हैं, जबकि भाजपा सांसद छेदी पासवान के मतदान करने पर प्रतिबंध है। वहीं, राज्यसभा में राजग के 80 सदस्य हैं।
अन्नाद्रमुक, टीआरएस व वाईएसआर कांग्रेस ने उसे समर्थन का भरोसा दिया है। तीनों दलों के लोकसभा में 50 और राज्यसभा में 17 सदस्य हैं। इस तरह 484 सदस्य राजग उम्मीदवार का समर्थन कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *