क्या सचमुच नहीं होगी 12 अगस्त को रात, जानिए क्या है सच्चाई

ज्ञान डेस्क। सोशल मीडिया पर इन दिनों एक मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है। इस मैसेज में कहा जा रहा है कि 12 अगस्त  2017 को रात नहीं होगी, बल्कि रात में भी दिन की तरह उजाला दिखाई देगा। मैसेज में कहा जा रहा है कि अंतरिक्ष में उजाला होगा। आखिर क्या है इस मैसेज के पीछे का सच हम आपको बताते हैं।   यह वायरल खबर नासा के हवाले से चलाई जा रही है। मैसेज में कहा जा रहा है कि 12 अगस्त 2017 को अंतरिक्ष में रात के समय भी दिन की तरह ही उजाला होगा। इस खबर में कहा जा रहा है कि यह दिन मानव जाति के लिए बहुत बहुत ही अद्भुत है। नासा के मुताबिक 96 साल में पहली बार 12 अगस्त को होगा जिस दिन 24 घंटे पूरी तरह उजाला नजर आएगा।
 यह है सचाई :  इस घटना के पीछे का खगोलीय कारण है। आसमान में अब तक के इतिहास का सबसे ज्यादा उजाला करने वाला अद्भुत उल्कापात (मेट्योर शावर) नजर आएगा। इसे नहीं देखने वाले लोगों को बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है। हालांकि नासा की ओर से ऐसी किसी खबर की बात सामने नहीं आई है।   नासा की वेबसाइट के मुताबिक 12 अगस्त को उल्कापात (मेट्योर शावर) तो होगा जिसके चलते रात में थोड़ा उजाला तो दिखेगा, लेकिन, ये अब तक के इतिहास का सबसे ज्यादा उजाले वाला उल्कापात नहीं होगा। गौरतलब है कि हर साल तीन बड़े मेट्योर शावर्स होते हैं। इनमें से पहला शावर जनवरी में, दूसरा शावर परसिड अगस्त में और आखिरी शावर जेमिनिड्स दिसंबर के महीने में नजर आता है। यानी की सोशल मीडिया पर फैल रही इस खबर के पीछे दरअसल एक खगोलीय घटना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *