4 माह भारत में मनेगा क्रिकेट का त्योहार, यह रहा पूरा शेड्यूल

मुंबई। भारत को इस वर्ष अपने घर में नवंबर-दिसंबर में श्रीलंका के खिलाफ तीन टेस्ट मैच खेलने है, लेकिन उसका कोई भी ख्यात केंद्र इन मैचों की मेजबानी का इच्छुक नहीं है। इसके चलते दो नए केंद्रों तिरुवनंतपुरम (केरल) और बरसापाड़ा (असम) को श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट मैचों की मेजबानी मिल सकती है।
भारत सितंबर से दिसंबर के बीच रिकॉर्ड 23 अंतरराष्ट्रीय मैचों की मेजबानी करेगा। भारत में इस चार महीने की अवधि के दौरान श्रीलंका के अलावा ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड की टीमें खेलने आएगी। इन मैचों की मेजबानी का फैसला मंगलवार को कोलकाता में होने वाली बीसीसीआई की टूर्स एंड फिक्चर्स कमेटी की बैठक में किया जाएगा।
भारत ने पिछले सत्र में रिकॉर्ड 13 टेस्ट मैचों की मेजबानी की थी। उस वक्त न्यूजीलैंड, इंग्लैंड, बांग्लादेश और ऑस्ट्रेलिया ने भारत में टेस्ट मैच खेले थे। इस दौरान सुप्रीम कोर्ट की बंदिशों के चलते मेजबान राज्य एसोसिएशनों को पैसों के संकट का सामना करना पड़ा था। इसके अलावा एकाध केंद्र को छोड़कर अधिकतर जगहों पर टेस्ट मैच के दौरान स्टेडियम खाली पड़े थे जिसके चलते अब सभी प्रमुख केंद्र टेस्ट की बजाए वनडे या टी20 मैचों के आयोजन के इच्छुक है।
वैसे भी इस वक्त श्रीलंकाई टीम कमजोर है और उनके पास ऐसा कोई दिग्गज खिलाड़ी नहीं है जिसे देखने दर्शक स्टेडियम में आएंगे। इसके चलते इस बार कोई भी प्रमुख केंद्र इस सीरीज के टेस्ट मैच के आयोजन का इच्छुक नहीं है। पिछले सत्र में दिल्ली और नागपुर टेस्ट मैचों की मेजबानी से वंचित रहे थे। यदि दोनों श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट की मेजबानी के लिए राजी हुए तो नए केंद्रों में से तिरुवनंतपुरम को मौका मिलेगा और यदि इनमें से कोई एक (नागपुर) ही राजी हुआ तो बरसापाड़ा को भी टेस्ट मेजबानी का मौका मिल सकता है।
23 अंतरराष्ट्रीय मैचों की मेजबानी : भारत सितंबर से दिसंबर के बीच रिकॉर्ड 23 अंतरराष्ट्रीय मैचों की मेजबानी करेगा। ऑस्ट्रेलियाई टीम 17 सितंबर से 11 अक्टूबर के बीच 5 वनडे और 3 टी20 मैच खेलेगी। न्यूजीलैंड टीम 22 अक्टूबर से 7 नवंबर के बीच 3 वनडे और 3 टी20 मैच खेलेगी। इसके बाद श्रीलंकाई टीम 15 नवंबर से 24 दिसंबर के बीच 3 टेस्ट, 3 वनडे और 3 टी20 मैच खेलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *