भारत का विदेशी मुद्रा भंडार रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचा

नई दिल्ली। भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में 2.681 बिलियन अमेरिकी डॉलर का इजाफा देखने को मिला है। 14 जुलाई को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान भारत का विदेशी मुद्रा भंडार बढ़कर नए लाईफ टाइम हाई के साथ 389.059 बिलियन डॉलर के स्तर पर पहुंच गया। इस इजाफे में फॉरेन करेंसी एसेट्स का प्रमुख योगदान रहा है। आरबीआई के डेटा में यह बात सामने आई है।
आरबीआई की ओर से जारी किए गए डेटा के मुताबिक बीते सप्ताह विदेशी मुद्रा भंडार 161.9 मिलियन डॉलर गिरकर 386.377 बिलियन डॉलर पर पहुंच गया था। फॉरेन करेंसी एसेट्स जिसका ओवरऑल रिजर्व में बड़ा योगदान होता है वह 2.677 बिलियन डॉलर बढ़कर 364.908 बिलियन के स्तर पर पहुंच गया। अगर इसे यूएस डॉलर के संदर्भ में नापे तो फॉरेन करेंसी एसेट्स में नॉन यूएस करेंसी, जैसे की यूरो,पौंड और येन (जिन्हें रिजर्व में रखा जाता है) की मूल्यवृद्धि और मूल्यह्रास दोनों ही शामिल होते हैं।
वहीं गोल्ड रिजर्व बिना किसी बड़े बदलाव के 20.348 बिलियन डॉलर पर बरकरार है। वहीं इंटरनेशनल मॉनीटरी फंड (आईएमएफ) के साथ स्पेशल ड्राइंग राइट्स भी 1.8 मिलियन डॉलर बढ़कर 1.479 बिलियन डॉलर के स्तर पर पहुंच गए। वहीं आईएमएफ में भी देश की रिजर्व पोजीशन 2.7 मिलियन डॉलर बढ़कर 2.322 बिलियन डॉलर तक पहुंच गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *