जानें क्यों है ख़ास भारत इंग्लैंड का फाइनल

स्पोर्ट्स डेस्क। भारत और इंग्लैंड के बीच रविवार को लॉर्ड्‍स में खेला जाने वाला महिला विश्व कप फाइनल संभवत: महिला वन-डे क्रिकेट में सबसे ज्यादा देखा जाने वाला मैच बन जाएगा। 
विश्व कप के इस 11वें संस्करण को अभी तक दुनियाभर में 5 करोड़ से ज्यादा लोग देख चुके हैं। यह ‍महिला विश्व कप के पिछले संस्करण (2013) की तुलना में 80 प्रतिशत की बढ़ोतरी है। भारत में इसको देखने वालों की संख्या में 47 प्रतिशत इजाफा हुआ है। 
दो मैच हाउसफुल : इस विश्व कप के दो मैचों के दौरान स्टेडियम पूरे भरे हुए थे। भारत और इंग्लैंड के बीच होने वाला फाइनल इस कड़ी में तीसरा मैच बन जाएगा। लॉर्ड्‍स पर 26500 से ज्यादा दर्शकों के उपस्थित होने का अनुमान है। मेजबान इंग्लैंड और सबसे लोकप्रिय टीम भारत की वजह से ऐसा होने का अनुमान है। 
ऑस्ट्रेलिया व इंग्लैंड का रहा दबदबा : अंतरराष्ट्रीय महिला क्रिकेट में अभी तक ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड का दबदबा रहा है। लेकिन इस टूर्नामेंट के दौरान भारत और दक्षिण अफ्रीका ने अपनी प्रतिभा साबित की। इन दो टीमों के दमदार प्रदर्शन की वजह से महिला क्रिकेट में प्रतिस्पर्धा बढ़ गई है। 
जीत का दावेदार कौन ? 
फाइनल में कौन जीतेगा यह कहना तो कठिन होगा, लेकिन यह खिताबी मुकाबला रोमांचक होने की उम्मीद है। वैसे रैंकिंग के लिहाज से देखा जाए तो इंग्लैंड दूसरे क्रम की टीम है और उसे दर्शकों का समर्थन मिलेगा, लेकिन टीम का इस टूर्नामेंट में प्रदर्शन उतार-चढ़ाव वाला रहा है। दूसरी तरफ भारत ने चौथे क्रम की टीम के रूप में टूर्नामेंट की शुरुआत की और दमदार प्रदर्शन किया। पहले मैच में इंग्लैंड को हराने के बाद सेमीफाइनल में छह बार के चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को हराने की वजह से भारत के हौंसले बुलंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *