पुस्तकों पर कमीशनबाजी: अभाविप और किताब विक्रेता आमने सामने

भिंड |  दोपहर के वक़्त आज अखिल भारतीय विधार्थी परिषद के लोग किताबों की कमीशन खोरी को लेकर भड़क उठे | इतना ही नही उन्होंने  हाउसिंग कॉलोनी में स्थित कोचिंग स्थान बन्द कराये इसके बाद उन्होंने पुस्तक बाज़ार में धावा बोला और पुस्तकों की दुकाने बन्द कराई|  विदित हो कि काफी समय से भिंड के प्राइवेट स्कूलों में कमीशनखोरी को लेकर आम नागरिक परेशान है,बच्चे की फीस का 50 प्रतिशत किताबों में खर्च हो रहा है जो कि बीते दिनों फीस का केवल 15 या 20 प्रतिशत तक हुआ करता था।आक्रोशित भीड़ के बीच ज्ञापन लेने पहुंचे एसडीएम संतोष तिवारी,उन्होंने विद्यार्थियों की मांगो को लेकर उचित न्याय दिलाने के लिए आस्वस्त किया,बताना जरूरी होगा कि भिंड में कमीशन खोरी को लेकर पूर्व में कई बार ज्ञापन दिए गए शिकायते हुई लेकिन आज तक इस पर विराम नही लग पाया है,शिक्षा माफियाओं के शह पर संचालित यह कमीशनखोरी का कारोबार कब तक सलामती पूर्वक चलता रहेगा यह तो वक़्त ही बताएगा फिलाल तो आस्वास्नो का दौर जारी है।संगठन में लगभग 30 लड़के उपस्थित रहे । इस घटनाक्रम के बाद व्यापारियों ने भी स्वदेशी पुस्तक बाजार बंद कर दिया और अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की धमकी दे डाली व्यापारियों का तर्क है कि कमीशनखोरी के नाम पर विद्यार्थी परिषद के लोगों ने गुंडागर्दी की और जबरन हमारी दुकानें बंद कराई । अब देखना यह है कि जिला प्रशासन इस मामले को किस रूप में लेता है और स्कूली तथा दुकानी स्तर पर चल रही किताबों की  कमीशनखोरी पर रोक लगा पाता है या
नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *